Independence Day Speech Bhashan: स्वतंत्रता दिवस का छोटा सा भाषण, स्पीच

Independence Day Speech Bhashan: 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विभिन्न स्कूलों, कॉलेजों, संस्थानों में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम, भाषण, भाषण, कविता, नारा लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। भाषण, भाषण, कविताएं इस विशेष दिन के लिए यहां हैं।

Independence Day Speech Bhashan

Independence Day Speech For Students In Hindi

Independence Day Bhashan की शुरुआत ऐसे करें…

मुख्य अतिथि, प्रधानाध्यापक, शिक्षकगण और मेरे प्यारे दोस्तों को सुप्रभात। मेरी ओर से आप सभी को स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) की बहुत बहुत शुभकामनाएँ। आज मुझे स्वतंत्रता दिवस पर कुछ ऐसा बोलने का मौका मिला है, जिसमें मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं/रही हूँ । स्वतंत्रता दिवस एक ऐतिहासिक पर्व है, आज से 75 वर्ष पहले भारत को अंग्रेजों से आज ही के दिन आजादी मिली थी।

Independence Day Essay 2022

अंग्रेजी हुकूमत ने हम भारतीयों पर बरसों तक अत्याचार किया और हमें गुलाम बनाकर रखाऔर एक दिन उनके अत्याचारोँ का अंत हो गया। 15 अगस्त को हमें अंग्रेजों की गुलामी से मुक्ति मिली और हम पूरी तरह से आजाद हो गए। स्वतंत्रता के इस अथक प्रयास में हमने अपने देश के कई महान लोगों को भी खो दिया। हमारे देश में ऐसे कई महान लोग पैदा हुए जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपनी जान की भी परवाह नहीं की और देश के लिए अपना बलिदान दिया

Independence day speech in English: Short Speech for Students on 75th Independence Day

Independence Day Speech 2022

हर साल की तरह इस बार भी देश 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मना रहा है. आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 को भारत के लोगों को अंग्रेजों से सफलता मिली थी। तभी से हम इसे राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाने लगे। यह सफलता हमें लगभग 100 वर्ष के विद्रोह के बाद मिली है। पहली बार पंडित जवाहरलाल नेहरू ने दिल्ली के लाल किले से भारत का झंडा फहराया, तब से यह परंपरा रही है कि हर साल भारत के वर्तमान प्रधान मंत्री लाल किले से राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं, जनता को संबोधित करते हैं।

अपना अस्तित्व खो चुके भारत ने अपनी पहचान फिर से पा ली। अंग्रेज भारत आए और यहां के वातावरण को बहुत ध्यान से जानने और परखने के बाद, अपनी कमजोरियों को ध्यान में रखते हुए, हम पर हमला किया और लगभग दो सौ साल तक शासन किया। हमारे वीर योद्धाओं ने कई लड़ाइयां लड़ीं और उसके बाद 15 अगस्त 1947 को हमें आजादी मिली।

Independence Speech For Students In Hindi

आदरणीय अतिथिगण,

मेरे सभी प्यारे दोस्तों और सम्मानित शिक्षकों, आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की बहुत-बहुत बधाई। आज मैं स्वतंत्रता दिवस पर एक छोटा भाषण प्रस्तुत करने जा रहा हूं। आज का दिन हमारे इतिहास का सबसे बड़ा ऐतिहासिक दिन है। जिस दिन हमारा देश अंग्रेजों से पूर्ण रूप से स्वतंत्र हुआ। 15 अगस्त 1947 को हमारे देश के वीर क्रान्तिकारियों को सबसे बड़ी आजादी मिली। इस स्वतंत्रता को पाने के लिए सभी स्वतंत्रता प्रेमियों को अथक परिश्रम करना पड़ा। इस दौरान देश के कई वीरों की कुर्बानी दी गई।

आज हमारा स्वतंत्र देश विज्ञान, खगोल विज्ञान, कृषि, चिकित्सा, कला और स्थापत्य के क्षेत्र में नई ऊंचाइयों को छू रहा है। देश निरंतर प्रगति कर रहा है। हालांकि कोरोना महामारी ने देश को एक बार थोड़ा पीछे धकेल दिया है। ऐसे में देश को गरीबी, निरक्षरता, बेरोजगारी जैसी समस्याओं पर काम करने की जरूरत है। अगर देश की अखंडता बनी रहती है तो सीमा सुरक्षा के मुद्दे भारत को और मजबूत और शक्तिशाली बनाने का काम करेंगे।

आजादी के इस मौके पर जहां हम देश की प्रगति के नए आयामों की चर्चा कर रहे हैं, वहीं हमें गुलामी के उस मंजर को कभी नहीं भूलना चाहिए, जहां हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों ने आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दी थी। आज भी उन महापुरुषों को याद करके हमारी आंखें नम हो जाती हैं। आज के नए भारत की चकाचौंध में हमें उन महान आत्माओं को कभी नहीं भूलना चाहिए जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व बलिदान कर दिया।

“भारत माता की जय” … “वन्दे मातरम”…”भारत माता की जय”

Independence Day Bhashan In Hindi

जैसा कि हम जानते हैं कि हमारा देश प्राचीन काल से एक कृषि प्रधान देश रहा है और 15 अगस्त 1947 के बाद हमारे कृषि क्षेत्र में भी बहुत बदलाव आया है। आजादी के बाद हम कृषि में नई तकनीकों का इस्तेमाल करते हैं और बड़ी मात्रा में फसल पैदा करने के लिए फसल उगाने के नए तरीके अपनाते हैं और आज हमारा देश अनाज के निर्यात में सबसे आगे है। 1965 में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध के दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री लाल बहादुर शास्त्री ने “जय जवान जय किसान” का नारा दिया था। और आज यह नारा बहुत हद तक साबित होता है।

आज आजादी के 75 साल बाद हमारा देश हर क्षेत्र में तरक्की की ओर बढ़ रहा है. हमारा देश हर दिन एक अलग क्षेत्र में एक नया अध्याय लिख रहा है, जैसे कि सैन्य शक्ति, शिक्षा, प्रौद्योगिकी, खेल और कई अन्य क्षेत्रों में, यह हर दिन एक नया आयाम लिख रहा है। आज हमारी सैन्य ताकत इतनी अच्छी है कि इसकी मिसाल पूरी दुनिया में दी जाती है और कोई भी देश भारत को अपनी नजरों से देखने से भी डरता है। आज हमारी सैन्य ताकत आधुनिक हथियारों से लैस है, जो पलक झपकते ही किसी भी दुश्मन को तबाह कर देने की ताकत रखती है।

हम बहुत भाग्यशाली हैं कि हमें इतिहास में ऐसे महान स्वतंत्रता सेनानी और क्रांतिकारी मिले और उन्होंने न केवल देश को बल्कि आने वाली पीढ़ियों को भी अंग्रेजों की गुलामी से आजाद कराया। इसी वजह से आज हम आजाद हैं और दिन-ब-दिन नई-नई उपलब्धियां और नई ऊंचाइयां हासिल करते जा रहे हैं।

हमारे देश की आजादी में सबसे महत्वपूर्ण योगदान महात्मा गांधी का था, जिन्होंने ब्रिटिश शासन के खिलाफ सत्य और अहिंसा जैसे हथियारों का इस्तेमाल कर उन्हें भारत छोड़ने पर मजबूर कर दिया था। देश की आजादी में जवाहरलाल नेहरू, सरदार वल्लभभाई पटेल, सुभाष चंद्र बोश, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद आदि जैसे कई अन्य स्वतंत्रता सेनानी थे। ऐसे कई लोग थे जिन्होंने भारत की आजादी में योगदान दिया और देश को मुक्त कराया।

“भारत माता की जय” … “वन्दे मातरम”…”भारत माता की जय”

close button